नमस्कार दोस्तो आप सभी का हमारे ब्लॉग Blogging FM पर स्वागत है। हम अपने ब्लॉग पर रोज नयी नयी जानकारी आपके साथ शेयर करते है तो आज का हमारा टॉपिक है Nokia Kaha ki Company hai जिसमे हम आपके साथ नोकिया कंपनी से जुड़ी जानकारी शेयर करेंगे, वैसे तो हम सभी नोकिया कंपनी के बारे में जानते ही है कि ये कंपनी इलैक्ट्रिक डिवाइस मोबाइल बनाने के लिए प्रशिद्ध है क्योंकि एक समय था जब keypad फोन इस्तेमाल होते तब सभी के पास नोकिया के मोबाइल ही मिलते थे जिसे भी नया मोबाइल लेना होता वह बिना सोचे समझे जाकर नोकिया के मोबाइल को ले लेता था Nokia सभी की लोकप्रिय कंपनी थी हममे भी बहुत से ऐसे लोग होंगे जिनका पहला फोन नोकिया रहा होगा लेकिन आज के समय में ओर बहुत सी एंडरोइड कंपनियाँ मार्केट में आ गयी है जो अब नोकिया से बढ़िया फीचर देने लगी है पर फिर भी Nokia एक ब्रांड है।

आज हम इस आर्टिकल में जानेगे कि नोकिया किस देश कि कंपनी है Nokia कंपनी के मालिक कौन है और नोकिया कि शुरुआत कब कहाँ व कैसे हुयी? अगर आप भी नोकिया कंपनी से जुड़ी प्रत्येक जानकारी जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को ध्यान से पूरा पढ़े।

Nokia किस देश की कंपनी है

हम सभी यह जानने कि इछूक रहते है कि नोकिया किस देश की कंपनी है तो आपको बता दे नोकिया वायरलेश व वायर्ड दूरसंचार पर कार्य करती जिसने बाद में फोन बनाने का काम शुरू किया नोकिया की शुरुआत फिनलैंड देश से की गयी लेकिन आज नोकिया दुनिया के 100 से भी अधिक देशो तक पहुँच गयी है अंत: Nokia फिनलैंड की कंपनी है।

Nokia कंपनी का मुख्याल्य (Head quarter) फिनलैंड देश की राजधानी हेलसिंकी के पड़ोसी शहर केलानिएमी एस्प्रो में है।

दोस्तो शायद आपको पता हो कि Nokia कंपनी ने स्टार्टिंग में फोन बनाने से नहीं की थी वल्कि इसकी शुरुआत टॉइलेट पेपर बेचने से हुयी थी।

यह भी पढ़े:- Infinix Kaha ki Company hai

Nokia कंपनी के मालिक कौन है

नोकिया कंपनी की शुरुआत फ़्रेडरिक इदेस्ताम ने 12 मई 1865 को अपने दोस्तो के साथ मिलकर फिनलैंड में की फ़्रेडरिक इदेस्ताम का जन्म 28 अक्तूबर 1838 में हुई।

नोकिया कंपनी के दूसरे founder Leo Mechelin बने जो एक बिजनेसमेन थे जिनका जन्म 24 नवम्बर 1839 को हुआ

Note:- Leo Mechelin के कारण ही फिनलैंड दुनिया का ऐसा पहला देश बना जहां महिलाओ को मतदान देने का अधिकार प्राप्त हुआ।

नोकिया कंपनी के तीसरे संस्थापक Eduard Polon बने।

Nokia कंपनी के सीईओ कौन है

नोकिया कंपनी के सीईओ Pekka landmark है जो 1 अगस्त 2020 को नोकिया कंपनी के सीईओ बने।

Pekka landmark से पहले नोकिया कंपनी के CEO राजीव सूरी थे जो एक इंडियन नागरिक थे इन्होने 2020 में नोकिया कंपनी के CEO पद से इस्तीफा दे दिया जिसके बाद Pekka landmark को नोकिया कंपनी का नया सीईओ बनाया गया।

Nokia कंपनी का इतिहास

दोस्तो आपको बता दे की जब नोकिया कंपनी की शुरुआत हुयी तब नोकिया मोबाइल फोन नहीं बनाती थी तब यह टॉइलेट पेपर बनाने व रबर का कारोबार करती थी। उस समय फ़्रेडरिक इदेस्ताम व Leo Mechelin कंपनी के co founder थे इन दोनों में आपसी मतभेद रहता था ये दोनों सहमति से प्लान नहीं बना पाते थे Leo Mechelin केबल और एलेक्ट्रोनिक में बिजनेस को आगे  बढ़ाना चाहते थे लेकिन फ़्रेडरिक इसके पक्ष में नहीं थे। 1871 में Leo Mechelin ने कंपनी का नाम Nokia AB रखा।

नोकिया की शुरुआत फिनलैंड में एक नदी नोकिंवीरता के समीप शहर तांपेरे में हुई नोकिंवीरता नदी के कारण ही इस कंपनी का नाम नोकिया पड़ा।

1896 में फ़्रेडरिक कंपनी से रिटायर हुए और Leo Mechelin कंपनी के चेयरमेन बने जिसने 1896 के बाद इलेक्ट्रॉनिक्स में अपने कदम आगे बढ़ाने स्टार्ट किए। प्रथम विश्वयुद्ध के समय Nokia AB दिवालिया घोषित हो गयी जिसके बाद Nokia AB, Finnish Rubber Work के अधीन हो गयी। 1914 तक Leo Machelin इस कंपनी के चेयरमेन रहे।

1967 में Finnish Cable Work, Finnish Rubber Work व Nokia AB ने मिलकर Nokia Corporation की शुरुआत की।

1970 में कंपनी ने सेना व आम नागरिकों के लिए रेडियो टीवी जैसे इलेक्ट्रिक डिवाइस बनाने की शुरुआत की

1984 में नोकिया ने सलोरा कंपनी को खरीद लिया जो कि एक टीवी बनाने कि कंपनी थी फिर 1985 में लक्सर एबी नाम कि कंपनी को खरीद लिया जो कम्प्युटर बनाने की कंपनी थी और 1987 में औसनिक नामक टीवी बनाने की कंपनी को अपने कब्जे मे कर लिया जिसके बाद नोकिया दुनिया में टीवी बनाने वाली तीसरी सबसे बड़ी कंपनी बन गयी।

अब नोकिया ने मोबाइल फोन बनाने कि इंडस्ट्री मे अपना कदम रखा और सबसे पहले नोकिया ने Mobira नामक फोन बनाने वाली कंपनी को खरीद लिया तथा कुछ ही समय बाद नोकिया ने 1982 में अपना पहला कार फोन लॉंच किया जिसका नाम Mobira Senator था यह फोन काफी बजनदार था इसका वजन लगभग 10 किलोग्राम था इसके कुछ ही समय बाद 1984 में कंपनी ने दूसरा फोन लॉंच किया जिसका नाम Mobira Talkman था यह फोन पहले फोन कि अपेक्षा हल्का था इसका वजन लगभग 5 किलो था। जिसे आम जनता द्वारा काफी पसंद किया गया।

कुछ ही समय बाद 1987 में नोकिया ने अपना तीसरा फोन Mobira Cityman लॉंच किया जिसने मार्केट में अच्छी पकड़ बनाई क्योंकि यह फोन वजन मे काफी हल्का था इसका वजन 800 ग्राम था जिस वजह से लोग  इसे काही भी ले जा सकते थे। इस फोन के बाद नोकिया को लोगो द्वारा काफी लोकप्रियता मिली और मुख्य ब्रांड के रूप मे जाना जाने लगा।

इसके बाद Nokia ने अपनी सीरीज लॉन्च कि जिसका पहला फोन Nokia 2100 था इस फोन ने मोटरोला जैसी फोन बनाने वाली कंपनी को पीछे छोड़ दिया और नोकिया ने कुल विश्व बाजार का 30% हिस्सा अपने क्षेत्र में कर लिया।

2003 में नोकिया कंपनी ने अपने दो फोन Nokia 1100Nokia 1110 लॉंच किए जिसने दुनिया में सबसे ज्यादा बिकने का रेकॉर्ड अपने नाम किया और भारत में उस समय 70% लोगो के पास नोकिया का यह फोन देखने को मिलता।

Note:- Nokia 1100 दुनिया का सबसे ज्यादा बिकने वाला keypad फोन है।

यह भी पढ़े:- Nike Kaha ki Company hai

Nokia की वर्तमान स्थिति

दोस्तो हम सभी यह बात जानते है कि आज के समय में Nokia की मार्केट वैल्यू पहले के मुक़ाबले बहुत ज्यादा घट गयी है एक समय था जब नोकिया इंडस्ट्री की king मानी जाती थी लेकिन अब apple, Samsung, xiaomi जैसी कंपनियो के आ जाने से नोकिया बहुत ज्यादा पिछड़ गयी है इसका मुख्य कारण यह रहा की नोकिया समय के साथ खुद्द को अपडेट नही कर पायी और लोगो की जरूरतों को समझ नही सकी। जब मार्केट में अनेक कंपनियाँ अपने android tuch screen phone लॉंच कर रही थी नोकिया तब भी पुराने keypad फोन में लगी हुयी थी जिसके कारण nokia का स्थान apple, Samsung व अन्य चाइनीज कंपनियों ने ले लिया। 2010 के आसपास नोकिया कंपनी को अमेरिकन मार्केट में 30% का घाटा हुआ।

3 सितंबर 2013 को Nokia कंपनी को Microsoft ने 7.2 अरब डॉलर में खरीद लिया और Microsoft ने सत्या नडेला को कंपनी का CEO बनाया। सत्या नडेला ने कहा नोकिया कंपनी को खरीदना माइक्रोसॉफ़्ट की बड़ी भूल है क्योंकि नोकिया का बाजार दिनो दिन घटता जा रहा है साथ ही मार्केट में पहले से ही दो ओप्रटिंग सिस्टम मौजूद है जिसकी वजह से Microsoft windows को अपना स्थान बनाना बहुत मुसकिल है।

Microsoft ने  Nokia कंपनी को HMD Global नामक कंपनी को बेच दिया। HMD Global कंपनी नोकिया के पूर्व कार्यकर्ताओ द्वारा बनाई गयी कंपनी थी और आज के समय में Nokia को HMD Global कंपनी द्वारा ही संचालित किया जाता है अब यह फॉक्सकोन कंपनी से फोन बनवाती है और फोन की मार्केटिंग स्वय HMD Global कंपनी करती है लेकिन ब्रांड नाम नोकिया ही है।

निष्कर्ष

दोस्तो आज के इस आर्टिकल Nokia किस देश कि कंपनी  है में जाना कि nokia kaha ki company hai और नोकिया कंपनी के मालिक कौन हैनोकिया कंपनी कि शुरुआत कब व कैसे हुयी। यदि आपको Nokia कंपनी से जुड़ी या किसी दूसरी कंपनी से जुड़ी जानकारी चाहिए तो आप हमसे comment box मे पूछ सकते है।

अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करें व ओर भी आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग Blogging FM से जुड़े रहे।

Thanku Friends

प्रश्न.1 नोकिया किस देश की कंपनी है?

उतर- नोकिया फिनलैंड देश की कंपनी है।

प्रश्न.2 नोकिया कंपनी के CEO कौन है?

उतर- नोकिया कंपनी के सीईओ Pekka Landmark है।

प्रश्न.3 नोकिया कंपनी को Microsoft ने कब खरीदा?

उतर- Microsoft ने Nokia कंपनी को 3 सितम्बर 2013 को खरीदा।


Pankaj Singh Shekhawat

नमस्कार दोस्तो, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मैंने कला विज्ञान के अंदर स्नातक की डिग्री प्राप्त की है। मैं आपको इस हिन्दी ब्लॉग पर ब्लॉगिंग, एसईओ, टेक्नॉलजी, इंटरनेट और मोबाइल टिप्स ट्रिक्स के साथ में ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीकों के बारे में जानकारी देने वाला हूँ। अगर आपको मेरे लिखे आर्टिक्ल पसंद आते है तो अपने दोस्तों के साथ में शेयर करें और मुझे मेरे सोश्ल मीडिया अकाउंट पर जरूर फॉलो करें।

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *